इंडियन मेडिकल एसोसिएशन पत्रकार वार्ता का आयोजन किया - ADAP News - अपना देश, अपना प्रदेश!

Header Ads

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन पत्रकार वार्ता का आयोजन किया


 कानपुर, विश्व मधुमेह दिवस एवं नगर में फैले हुए डेंगू वायरस से आमजन मानस को जागरूक करने के लिया किया गया। इस पत्रकार वार्ता को आईएमए कानपुर के अध्यक्ष डॉ पंकज गुलाटी, डॉ ए सी अग्रवाल‍ पूर्व अध्यक्ष, वरिष्ठ फिजिशियन एवं मधुमेह रोग विशेषज्ञ, डॉ नंदिनी रस्तोगी वरिष्ठ फिजिशियन एवं मधुमेह रोग विशेषज्ञए, डॉ वी सी रस्तोगी पूर्व अध्यक्ष, एवं डॉ अमित सिंह गौर, सचिव, आईएमए कानपुर ने संबोधित किया।

आईएमए कानपुर के अध्यक्ष डॉ पंकज गुलाटी ने आए हुए सभी पत्रकारों का स्वागत किया और बताया कि इस समय नगर में डेंगू वायरस बहुत तेजी से फ़ैला हुए है आमजन मानस को सलाह दी कि यदि बुखार आए और ४- ५ दिन से अधिक रहे तो डेंगू की अवश्य करनी चाहिए।तेज बुखार, शरीर में दर्द, आंखों के पीछे दर्द व जलन, सिर दर्द और त्वचा में चकत्ते बनने लगे तो ये डेंगू का संक्रमण हो सकता है। हमारा कर्तव्य कि जो अपने अपने आप को मधुमेह रोगी होने से बचाएं और जो इससे पीड़ित है उसकी यथासंभव मदद करें बचपन से ही वजन को नियंत्रण में रखकर और एक्टिव जीवन की ओर अग्रसर हो कर हम मधुमेह की बढ़ती हुई संख्या पर नियंत्रण पा सकते हैं मच्छर साफ पानी के छोटे से संग्रह में पैदा होते हैं जिसमें फ्लावर पॉट डिश, प्लास्टिक कप बाल्टी पुराने टायर फेंके गए जूते और गटर शामिल हैं। डेंगू के एक संक्रमित मरीज को काटने के बाद मच्छर 8 से 12 दिनों में संक्रामक हो जाता है और मच्छर अगले 5 से 7 दिनों तक संक्रमण बना रहता है। डेंगू के लिए ऊष्मायन अवधि 5 से 7 दिन है। शास्त्रीय लक्षण और डेंगू के लक्षण 3 स्टेज-फेब्राइल, क्रिटिकल स्टेज और फिर दीक्षांत या रिकवरी स्टेज होती है। अन्यथा मधुमेह में आपके शरीर के हर अंग और संवहनी जटिलताएं शामिल हैं जैसे कि आंखों की भागीदारी, गुर्दे की भागीदारी, तंत्रिका तंत्र की भागीदारी, हृदय प्रणाली और तंत्रिका तंत्र की भागीदारी, दिल का दौरा, मस्तिष्क का दौरा और गैंग्रीन, सभी चीजें मधुमेह की जटिलताएं हैं जिन्हें बहुत रोका जा सकता है। जागरूकता के साथ, इसलिए विश्व मधुमेह दिवस सभी मधुमेह रोगियों के लिए सभी मधुमेह रोगियों के लिए शिक्षा की आशा लेकर आता है, जिसके बारे में आपको जागरूक होने और केवल अपना ख्याल रखने, नियमित रूप से निगरानी करने और चिकित्सा स


 

No comments